समास का शाब्दिक अर्थ क्या होता है​ Samas Ka Shabdik Arth Kya Hota Hai

Samas Ka Shabdik Arth Kya Hota Hai

समास शब्द संस्कृत भाषा से लिया गया है, जिसका शाब्दिक अर्थ होता है सम अर्थात् एक साथ और आस अर्थात् बैठना। 

इसका शाब्दिक अर्थ होता है “दो या दो से अधिक शब्दों का ऐसे समुच्चय जिसे एक ही अर्थ का प्रकट होना चाहिए।” अर्थात, समास एक ऐसा शब्द होता है जो दो या दो से अधिक शब्दों का समुच्चय होता है और उनमें से कम से कम एक शब्द समान अर्थ का प्रकट करता है।

समास का अर्थ क्या होता है

  • समास का शाब्दिक अर्थ संक्षेप होता है|

“समास” शब्द का शब्दार्थ होता है “संक्षेप”। इससे तात्पर्य होता है कि जब दो या दो से अधिक शब्दों को मिलाकर एक नया शब्द बनाया जाता है, तब उसे “समास” कहते हैं। 

समास एक शब्द रचना होती है, जिसमें दो पद होते हैं – पहला पद “पूर्वपद” या विशेषणक होता है और दूसरा पद “उत्तरपद” कहलाता है। जब दोनों पदों से नया शब्द बनता है, तो उसे “समस्त पद” कहा जाता है।​

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *